हे राही, तुम चले चलो!

हे मेरे राही,

तू चलते चल,

तू बढ़ते चल।

मेहनत से कतराना न तुम,

कठिनाइयों से घबराना न तुम,

हे मेरे राही,

केवल आगे बढ़ते चले जाना तुम।

 

मुश्किलों के भवंडर में फंस जाना न तुम, Continue reading